कभी रज़ामंदी तो कभी बग़ावत है इश्क़ Love And Sad Shayari

तेरी रज़ा रहे, और तू ही तू रहे,
बाक़ी न मैं रहूं, न मेरी आरज़ू रहे,
जब तक बदन में जान, रगों में लहू रहे,
बस तेरा ही ज़िक्र हो या तेरी जुस्तजू रहे।
🌹🌹🌹

Kabhi Razamandi To Kabhi Baghawat Hai Ishq,
Mohabbat Radha Ki Hai Aur Meera Ki Ibadat Hai Ishq.🌹🌹
love-and-sad-shayari

Love And Sad Shayari 💘 कभी रज़ामंदी तो कभी बग़ावत है इश्क़

मेरी ज़िंदगी मुझे ये बता मुझे छोड़ कर तुझे क्या मिला,
मेरी हसरतों का हिसाब दे दिल तोड़ कर तुझे क्या मिला,
तेरे चार दिन के प्यार से मुझे उम्र भर का ग़म मिला,
मैं टूट कर बिखर गया मुझे तोड़ कर तुझे क्या मिला।
💘💘💘
[post_ads]
Chhu Kar Bhi Jise Chhu Na Sake
Wo Chahat Hai Ishq,
Kar De Fena Jo Rooh Ko
Wo Ibadat Hai Ishq.🌷🌷
love-and-sad-shayari
शायरी को देख कर मेरी
लोग कहते हैं कोई तो होगा,
ये सोच कर हम भी मुस्कुरा देते हैं
काश कोई तो होता।
💓💓💓

Love And Sad Shayari 💘

Kuchh Chehre Kabhi Bhulaye Nhi Jaate
Kuchh Naam Dil See Mitaye Nhi Jaate,
Mulaqat Ho Ya Na Ho Lekin Ai Mere Yar
Pyar Ke Chirag Kabhi Bujhaye Nhi Jaate.💓
love-and-sad-shayari
तुझे क्या पता इंतज़ार में तेरे
हमने हर लम्हा कैसे गुज़ारा है,
एक बार नहीं दिन में
हज़ार बार तेरी तस्वीर को निहारा है।
💙💚💜

Teri Raza Rahe Aur Tu Hi Tu Rahe
Baqi Na Mai Rahu Na Meri Arzu Rahe,
Jab Tak Badan Me Jan, Ragon Me Lahu Rahe
Bs Tera Hi Zikr Ho Ya Teri Justaju Rahe.💚
love-and-sad-shayari

Sad Shayari 💘💘

कुछ चेहरे कभी भुलाए नहीं जाते,
कुछ नाम दिल से मिटाए नहीं जाते,
मुलाक़ात हो या ना हो लेकिन ऐ मेरे यार,
प्यार के चिराग़ कभी बुझाए नहीं जाते।
💖💖💖

Meri Zindagi Mujhe Ye Bata Mujhe Chhod Kr Tujhe Kya Mila
Meri Hasraton Ka Hisab De Dil Tod Kr Tujhe Kya Mila,
Tere Char Din Ke Pyar Se Mujhe Umr Bhar Ka Ghham Mila
Mai Toot Kr Bikhar Gaya Mujhe Tod Kr Tujhe Kya Mila.💖💖
love-and-sad-shayari
कभी रज़ामन्दी तो कभी बग़ावत है इश्क़,
मोहब्बत राधा की है और मीरा की इबादत है इश्क़।
💕💕💕

Love Shayari 💘💘

Shayari Ko Dekh Kr Meri
Log Kahte Hain Koi To Hoga,
Ye Soch Kr Hm Bhi Muskurahat Dete Hain
Ke Kash Koi To Hota.💕💕
love-and-sad-shayari
छू कर भी जिसे छू न सके
वो चाहत है इश्क़,
कर दे फ़ना जो रूह को
वो इबादत है इश्क़।
💞💞💞

Ye Bhi Padhein:

Tujhe Kya Pata Intazar Me Tere
Hmne Har Lamha Kaise Guzara Hai,
Ek Baar Nahi Din Me
Hazar Bar Teri Taswir Ko Nihara Hai.💞💞

Subscribe Now For Regular Free Updates:

0 Response to "कभी रज़ामंदी तो कभी बग़ावत है इश्क़ Love And Sad Shayari"

Video Of The Day
Comedy Masti