Quran Me Hai CoronaVirus Ka Ilaj, China Ke PM Ne Bhi Mana |VIDEO|

item-thumbnail
Play Video


coronovirus-and-quran-hindi-video
दोस्तों इस पोस्ट को अधिक से अधिक Share करें ताकि पूरी दुनिया इससे लाभ उठा सके।
Read more »

India's Dancing Baba |VIDEO|

item-thumbnail
Dosto aise babao k baare me aap kya kehna chahenge, comment box me apni rai zaroor dein..
Read more »

Mai Bharat Ki Beti Hu, Aao Apni Pyas Bujhalo

item-thumbnail
News Expose सिरीज़ में आपका फिर से स्वागत है, इस सिरीज़ के पिछले अंक में मैंने बिहार बंगाल दंगों, और सीरिया के बारे में बताया था कि कैसे हम गंदी राजनीति के शिकार हो रहे हैं, (पढ़ें: Dirty Politics in Hindi) इस अंक में जिस टॉपिक पर मैं बात करने वाला हूँ वो भी दरअसल गंदी राजनीति का ही एडवांस रूप है।
Mai-bharat-ki-beti-hu-aao-apni-pyas-bujhalo
बलात्कार, बलात्कार, बलात्कार...
दर्दनाक मौत, भारत माता की जय, वंदे मातरम...
आजकल हमारा पूरा देश इन्हीं शब्दों को सुन रहा है, पूरा देश अपनी मासूम बेटियों को लेकर चिंतित है की कल को कहीं उनके साथ भी कोई अप्रिय घटना न घट जाए, और वे खेलने कूदने की उम्र में ही किसी नेता, किसी बाबा या किसी वहशी द्वारा रौंद न दी जाए... आज पूरी दुनियां हमपे हंस रही है, थू थू कर रही है।



वैसे तो बलात्कार की घटनाएं कोई नई नहीं है, इससे पहले भी होती रही हैं, हमारे देश में तो द्रोपदी के चीर हरण जैसी घटनाएं भी हो चुकी हैं, लेकिन अभी जो कुछ भी हो रहा है वैसा शायद पहले कभी नहीं हुआ।
Mai-bharat-ki-beti-hu-aao-apni-pyas-bujhalo
ये शायद पहली बार हुआ है कि किसी 8 साल की मासूम के साथ रेप की घटना मंदिर में हुई हो, भगवान के सामने हुई हो..
ये भी पहली बार हुआ है कि किसी रेप पीड़िता के पिता को इंसाफ देने के बजाए उसे पुलिस कस्टडी में मार दिया गया हो...
ये भी पहली बार हुआ है कि दोषियों को बचाने के लिए तरह तरह के हथकंडे अपनाए जा रहे हों, दोषियों को बचाने के लिए भारत माता की जय के नारे लग रहे हों और तिरंगा का सहारा लिया जा रहा हो...
और ये भी पहली बार हुआ है कि जिस देश में इतनी दर्दनाक घटनाएं घटी हों उस देश के प्रधान मंत्री के मुंह से एक शब्द ना निकला हो... ज्ञात हो कि हमारे प्रधान मंत्री की गिनती खुल कर बोलने वाले नेताओं में होती है और वे औरतों के हक की बात करने का दावा करते हैं, लेकिन आज जब देश की बेटियों को उनकी जरूरत है तो वे मौन व्रत रख हुए हैं, पता नहीं वे इन घटनाओं से आहत हो कर अवसाद में चले गए हैं या ये 2019 की तैयारी है, आश्चर्य है जब जब देश में कोई ऐसी घटना घटती है जिसमें पीडित पक्ष किसी धर्म विशेष या जाति विशेष का हो तो वे खामोशी का आँचल ओढ़ कर गायब हो जाते हैं।
Mai-bharat-ki-beti-hu-aao-apni-pyas-bujhalo
यहां मैं एक और बात बताना चाहूंगा मैं मोदी जी का बहुत बड़ा फॉलोवर रहा हूँ, उनके PM बनने के बाद से नहीं बल्कि उससे बहुत पहले से, उनकी पर्सनालिटी में कई ऐसी बातें हैं जो मुझे बहुत आकर्षित करती रही हैं, मैंने ट्विटर पर अकॉउंट ही बनाया था उनको फॉलो करने के लिए, मेरी नज़र में उनकी छवि एक जुझारू और ईमानदार नेता की रही है,
लेकिन जैसे जैसे मैं उनको जानता गया...... खैर जाने दिजीए।



दोस्तों, हमारा देश ऋषि मुनियों का देश रहा है, यहां औरतो को देवी का दर्जा दिया जाता है और उनकी पूजा होती है, यहां किसी अनजान लड़की को भी बहन बुलाने का रिवाज रहा है, किसी भी औरत को माता कहने का रिवाज रहा है...
Mai-bharat-ki-beti-hu-aao-apni-pyas-bujhalo
लेकिन ये सब बीती बातें हो चुकी हैं, अब सब कुछ बदल चुका है, हमारा देश बदल चुका है, हमारी परंपराएँ, हमारे संस्कार और हमारी सोच बदल चुकी है, अब सबकुछ को राजनीति और धर्म जाति के चश्मे से देखा जाता है।

अब बहन सिर्फ वो होती है जो अपनी खुद की माँ की कोख से जन्मी हो, अब माँ सिर्फ वो होती है जिसने हमें जन्म दिया हो, कोई लड़की तभी हमारी बहन बेटी होती है अगर वो हमारे धर्म की हो हमारी जाति की हो... बाकी सारी लड़कियों को भोग की वस्तु समझा जाने लगा है...
Mai-bharat-ki-beti-hu-aao-apni-pyas-bujhalo
निर्भया की मौत के बाद जब हम सारे लोग एकजुट होकर सड़कों पर उतरे थे तो लगा था अब ऐसा हादसा नहीं होगा, इस देश की बेटी को अब से वो सब नहीं सहना पड़ेगा जो निर्भया ने सहा... लेकिन आज के हालात को देखते हुए लगता है ये शायद कभी नहीं हो पाएगा, क्योंकि अब हम एकजुट नहीं रहे, हम टुकड़ों में बंट चुके हैं, अब हम हिंदुस्तानी नहीं रहे, अब हम राजपूत बन चुके हैं, अब हम ब्राह्मण बन चुके हैं, अब हम दलित बन चुके हैं, अब हम वैश्य बन चुके हैं, अब हम हिन्दू बन चुके हैं मुसलमान बन चुके हैं....।
हम बदल चुके हैं हमारी सोच बदल चुकी है...
जितना हमने निर्भया के लिए लड़ा था उतना न आसिफा के लिए लड़े ना उन्नाव की बेटी के लिए लड़े, लड़ें भी तो क्यों लड़ें?
आसिफा मुसलमान के घर जन्मी थी तो हम हिन्दू होकर मुसलमान के लिए क्यों लड़ें, उन्नाव की बेटी हिन्दू के घर जन्मी थी तो हम मुसलमान होकर हिन्दू के लिए क्यों लड़ें?? जिसके साथ जो हो रहा है होने दो बस ऊपर वाला मेरी बेटी को बचाए रखे.. यही आज की हमारी मानसिकता हो चुकी है, हम सिर्फ गिरे नहीं हैं बल्कि गन्दे नाले में जा चुके हैं।
अब बेटियों के लिए सलामत रहने का बस एक ही ऑप्शन रह गया है कि वे पैदा ही ना हों...।
Mai-bharat-ki-beti-hu-aao-apni-pyas-bujhalo



अभी तक की जानकारी के मुताबिक आसिफा को सिर्फ इसलिये वहशीपन का शिकार होना पड़ा ताकि वो जिस समुदाय से आती है उनको सबक सिखाया जाए, वे लोग जगह छोड़ कर चले जाएं, 
8 साल की मासूम को क्या पता धर्म क्या होता है जाति क्या होती है? और कितने शर्म की बात है कि इस हैवानियत का मास्टरमाइंड एक रिटायर्ड अधिकारी है, और उससे भी बड़ी बात सारा खेल मंदिर के अंदर खेला गया, उस मासूम को नशे की दवा दे दे कर दरिंदे उसके साथ बलात्कार करते रहे और बाद में सिर कुचल कर मार डाला।
शर्म आती है खुद को ऐसे समाज का हिस्सा कहते हुए।
Mai-bharat-ki-beti-hu-aao-apni-pyas-bujhalo
उन्नाव की बेटी के साथ भी कुछ ऐसा ही हुआ, वो ज़िंदा तो बच गयी पर इंसाफ मांगे तो किससे? उसके पिता इंसाफ मांगने गए थे तो उनको सीधा ऊपर ही भेज दिया गया।



कहां है वो लोग जो कुछ वक्त पहले पद्मावती की इज्जत बचाने के लिए सड़कों पर उतरे थे ?
अब कहाँ गई करनी सेना या बजरंग दल ?
पद्मावत फिल्म का सीन ज़्यादा शर्मनाक था या फिर एक जिंदा बेटी का
गैंग रेप ?
क्या इन बेटियों की इज्जत से उनका कोई लेना देना नहीं ?
Mai-bharat-ki-beti-hu-aao-apni-pyas-bujhalo
अभी भी वक्त है संभल जाओ,
अपनी नीची सोच और गंदी राजनीति से बाहर आओ,
वरना कल को तुम्हारी बहन बेटियां भी सरे बाज़ार लुट जाएंगी और तुम चाह कर भी कुछ नहीं कर पाओगे,
क्योंकि आज तुम्हारी मानसिकता अपाहिज है, कल को किसी और की मानसिकता अपाहिज हो चुकी होगी।
Read more »

News Expose - The Dirty Politics

item-thumbnail
हेल्लो फ्रेंड्स.... News Expose - The Dirty Politics सिरीज़ में आपका स्वागत है, ये सिरीज़ उन लाखों पाठकों को ध्यान में रखकर शुरू किया गया है जो राजनीति में गहरी दिलचस्पी रखते हैं, या फिर जो गन्दी राजनीति  के शिकार हुए हैं।

इस सिरीज़ को शुरू करने का हमारा मकसद उन समाज सेवक भाई बहनों को समर्थन करना और उनकी हौसला अफजाई करना भी है जो बिना किसी स्वार्थ और बिना किसी भेद भाव के हमारे समाज की एकता को बनाये रखने में लगे हुए हैं। ऐसे महान लोगों को हमारा और हमारी टीम का सलाम।

news-expose-the-dirty-politics




News Expose - The Dirty Politics


दोस्तों एक शब्द है "शैतान"... शैतान कैसा होता है ? क्या करता है ? कहाँ रहता है ?? इन सब बातों की मुझे ज़्यादा जानकारी नहीं है और ना ही ये आज का हमारा Topic है.
मैं जिन शैतानों की बात करने जा रहा हूँ वे कहीं और नहीं बल्कि हमारे और आपके बीच में ही रहते हैं, वे इंसानो के रूप में ही होते हैं और इंसानों को तोड़ना और उनके बीच खाई पैदा करना ही उनका काम होता है।
उन शैतानों का कोई धर्म नहीं होता कोई मज़हब नहीं होता... वे ना तो सच्चे हिन्दू होते हैं और ना ही सच्चे मुसलमान।
अब आप सोच रहे होंगे कि वे इंसान हो कर भी ऐसा क्यों करते हैं ? ऐसा करके उनको क्या मिलता है ?



सीधा सा जवाब है... नफ़रत फैला कर उनको भी वही मिलता है जो हमारे कुछ नेताओं और कुछ बिकाऊ मीडिया को मिलता है।
यानी ऐसा करने से ऊपर बैठा "सरदार" खुश होता है, शाबाशी देता है और उनकी रोज़ी रोटी चलती है।

ताज़ा उदाहरण है बंगाल और बिहार।
news-expose-the-dirty-politics
जब बंगाल में दंगा भड़का तो हमारे कुछ नेताओं और बिकाऊ मीडिया ने ये बताने की कोशिश की कि चूंकि वहां भाजपा की सरकार नहीं है इसलिए दंगे हुए, साथ में ये बताकर भी फूट डालने की कोशिश की गई कि वहां की ममता सरकार हिंदुओं की दुश्मन है.. लेकिन वही दंगा जब भाजपा समर्थित सरकार बिहार में हुआ तो उनके मुंह से एक शब्द नहीं निकला।
बिहार की राजनीति के साथ भी लगभग वैसा ही कुछ हुआ, यानी बिहार दंगे को मुसलमानों के ख़िलाफ़ साज़िश बता कर अलग रंग देने की कोशिश की गई, और ज़ाहिर है ऐसा करने वाले वही लोग थे जो बंगाल दंगे के वक्त खामोशी का व्रत रखे हुए थे।
news-expose-the-dirty-politics
क्या आप ने कभी सोचा है कि जो लोग बंगाल में मारे गए वे कौन थे ? और जो लोग बिहार में मारे गए वे कौन थे ?

अगर धर्म से ऊपर उठकर सोचेंगे तो पता चलेगा कि वे हिन्दू नहीं थे, वे मुसलमान भी नहीं थे, बल्कि जो लोग भी Dirty Politics का शिकार हो कर मारे गए वे सभी हिंदुस्तानी थे... हमारे भाई थे।
ठीक इसी तरह अभी कुछ दिन पहले सीरिया में 39 भारतीयों के मारे जाने की News Expose हुई थी, उस वक्त भी सारे बिकाऊ news channels ने इस ख़बर को अलग तरह से पेश किया था, उन्हों ने ये प्रूफ़ करने में कोई कसर नही छोड़ी थी कि सीरिया में बंधक बनाए गए उन भारतीयों को केवल हिन्दू होने के कारण मारा गया।
इस News को इतना मिर्च मसाला लगाकर दिखाया जा रहा था की असली शैतान भी शरमा जाए। ज़ाहिर है जो लोग भी इसमें लगे थे उनका मक़सद था धार्मिक उन्माद फैला कर हमारे बीच नफरत पैदा करना, क्योंकि ये बात सारी दुनिया जानती है कि सीरिया में अब तक लाखों मुसलमान मारे जा चुके हैं, अगर 39 भारतीयों को हिन्दू होने की वजह से मारा गया तो फिर उन लाखों मुसलमानों को क्यों मारा गया ??
स्पष्ट है यहां भी हिन्दू मुसलमान वाली कोई बात नहीं थी।



और सबसे ज़्यादा आश्चर्य और दुख तो तब हुआ जब ये पता चला कि उनकी हत्या बहुत पहले कर दी गयी थी जबकि हमारी एक कद्दावर, दमदार और काबिल नेता और मंत्री सदन में ये बता चुकी थी कि वे क़ैद में फंसे भारतीयों के कांटेक्ट में हैं और फ़ोन पर लगातार उनकी खबर ले रही हैं।
जिन भारतीय भाइयों को बहुत पहले मारा चुका था उनसे मंत्री जी की बात कैसे होती थी ??
ताज्जुब है ??
news-expose-the-dirty-politics
बात यहीं खत्म नहीं होती, News Expose - The Dirty Politics के आने वाले अंकों आप पढ़ेंगे: राजनीति अभी जारी है।

आज के हालात में सारे जहां से अच्छा हिन्दोस्तां हमारा, हम बुलबुले हैं इसकी ये गुलसितां हमारा  को इस नए version मेंं 
पढ़ना ज़्यादा उचित रहेगा..

सारे जहाँ से अच्छा हिन्दोस्तां हमारा ,

सैयाद हैं हम इसके बुलबुल है ये हमारा ।

गोदी मे हो रहे है जिसके ही रोज दंगे ,
डाकू हमीं है इसके ये कारवां हमारा ।
यहाँ रोज़ बन रहे है मस्जिद हो या शिवालय ,
इंसानियत को हमने कुत्ते की मौत मारा ।
सारे जहाँ से अच्छा हिन्दोस्तां हमारा।
वर्तमान स्थिति को देखते हुए हमें धर्म जाति और राजनीति से ऊपर उठकर अपने देश और समाज की एकता को मज़बूत बनाना होगा, हमारे बीच छुपे इंसान रूपी शैतानों की पहचान कर उनसे दूर रहना होगा, और उनके नापाक मंसूबों को नाकाम करना होगा..

हमें ज़रूरत है जागरूकता की, हमें ज़रूरत है एकता की, हमें ज़रूरत है तरक्की की, हमें ज़रूरत है उज्ज्वल भविष्य की..
और ये तभी संभव है जब हमारा देश मज़बूत होगा, ये तभी संभव है जब हमारा समाज जागरूक होगा, और ये सब तभी संभव होगा जब हम धर्म-जाति और राजनीति से ऊपर उठेंगे।


मैं ये नहीं कहता आप हिन्दू नहीं बनो, मैं ये नहीं कहता आप मुसलमान नही बनो, लेकिन आप जो भी बनो पूर्ण रूप से बनो... अगर आप हिन्दू हो तो वेद पुराण की बातों का पालन करने वाले बनो, अगर आप मुस्लिम हो तो क़ुरान हदीस की बातों पर अमल करने वाले बनो।
क्योंकि कोई भी मज़हब कोई भी धर्म हमें तोड़ने की नहीं बल्कि जोड़ने की शिक्षा देता है, कोई भी धर्म नफ़रत को पसन्द नहीं करता।

News expose - The dirty politics  के आने वाले अंकों में आप देखेंगे "Expose Gallery" जिसमें देेेश और दुनिया के मौजूदा हालात
को तस्वीरों के माध्यम से दिखाया जाएगा, साथ में आप पढ़ेंगे राजनीति अभी जारी है और जलता हिंदुस्तान- कौन है असली गुनाहगार?
news-expose-the-dirty-politics
दोस्तों, ये हमारी एक छोटी सी कोशिश है समाज को जागरूक बनाने की, अगर आप हमारे साथ हैं और आप भी हमारे इस मिशन से जुड़ना चाहते हैं तो इस साइट को Subscribe कर नीचे दिए कमेंट बॉक्स में अपनी राय ज़रूर दें और इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ और सोशल साइट्स पे अधिक से अधिक शेयर करें.. धन्यवाद।
Read more »
Older Posts
Home