Bookmark

सुंदर लड़कियों को जाल में फंसाता और शादी करके करता था ऐसा। बिहार की सच्ची घटना। Crime Story | ExposeTime

सुंदर लड़कियों को जाल में फंसाता और शादी करके करता था ऐसा। बिहार की सच्ची घटना

1 फरवरी 2023 को सुबह सुबह एक घर से चीखने और चिल्लाने की आवाजें आती है। गांव के लोग जब जाकर देखते हैं तो देखते हैं कि उस महिला का पति चीख रहा है, चिल्ला रहा है, रो रहा है और बता रहा है कि रात को ही मेरी पत्नी को अटैक आ गया जिसके कारण वो मर चुकी है और मोहल्ला पड़ोस के लोग तुरंत ही आनन फानन में उसकी बात मान करके और उसकी चिता की तैयारी शुरू कर देते है। वो कहता है कि जल्दी ही इसकी चिता लगा दी जाए और तुरंत ही आनन फानन में मरघट में उसकी डेड बॉडी को ले जाया जाता है।

ले जा करके जब तक उसके परिवार के लोग आते हैं, मायके के लोग आते हैं तब तक उसकी चिता को आग दे दी जाती है और वो राख बन चुकी होती है। इधर उसके मायके के लोग जब यहाँ पहुंचते हैं तो उन्हें लड़की को देखने को तक नहीं मिली थी। इसलिए उनके मन में बहुत शंका हो जाती है। वो तुरंत ही पुलिस को फ़ोन करते हैं, पुलिस मौके पर आती है। पहले तो वो लड़का मौके से भाग जाता है, लेकिन एक 2 दिन में पुलिस उसे अरेस्ट कर लेती है और इसे अरेस्ट करने के बाद यह पूछ्ताछ करती है। उसे रिमांड पर लेती है। तब जो सच्चाई सामने आती है वो बेहद खतरनाक थी।

sundar-ladkiyon-ko-phasakar-ye-karta-tha-crime-story

आप लोग सुनेंगे, आपके पैरों से जमीन खिसक जाएगी। दरअसल सच्चाई बहुत ही हैरान कर देने वाली है। उस पत्नी की उसने हत्या की थी। उसने उसको गला दबा करके मारा था। इससे पहले उसकी दो शादियां और हुई थी। उनके साथ क्या हुआ था, यह सब जानने के लिए आप हमारे पोस्ट को अंत तक जरूर पढ़ें।

यह कहानी शुरू होती है बिहार से, बिहार में एक जिला पड़ता है औरंगाबाद, औरंगाबाद के ही उपहारा थाना क्षेत्र में एक गांव पड़ता है शेखपुरा इसी शेखपुरा में एक परिवार रहा करता है। सुबेलाल नाम का एक व्यक्ति रहा करता है। सुबेलाल की पहली शादी 2002 में लालती के साथ हुई थी। लालती बहुत ही खूबसूरत और हंसमुख लड़की थी। सब कुछ ठीक ठाक चल रहा था लेकिन सूबेदार बहुत ही लालची किस्म का आदमी था। वो उससे दहेज की मांग करता था। उससे हर बार कहता था कि अपने माँ बाप से दहेज लेकर आ। वो कई बार अपने घर गयी भी। जो भी माँ बाप के पास था, जो भी वह दे सकते थे उतना और ज्यादा दिया।

लेकिन उसकी मांग बढ़ती ही जा रही थी। पति पत्नी में झगड़ा होने लगा। अक्सर सुबेलाल अपनी पत्नी से दहेज की मांग को लेकर के झगड़ा किया करता था। अचानक उसने एक दिन उसका गला दबा दिया। गला दबा करके उसकी हत्या कर दी। ससुरालीजनों से फ़ोन कर दिया और बोला कि हमारी पत्नी को रात को सांप ने डंस लिया है। ससुराल वाले लोग आ जाते हैं और परिवार के लोग भी जब कहते हैं कि उसको सांप ने डंस लिया था तो वो भी मान लेते हैं। उसका राज़ राज़ ही बना रहता है और उसके खिलाफ़ कोई भी कार्रवाई नहीं होती है। समय बीतता जाता है।

2006 में एक वो दूसरी लड़की से शादी करता है जिसका नाम है ममता। ममता के साथ शादी होने के बाद दो चार महीने समय तो अच्छे से गुजरता है उसके बाद उससे भी वो दहेज की मांग करने लगता है और उसे प्रताड़ित करने लगता है। इसी बीच वो गुजरात में दमन में नौकरी करने के लिए चला जाता है। दमन में वो एक प्राइवेट कंपनी में नौकरी करता है। वहाँ पर अपनी पत्नी ममता को भी अपने साथ रखता है, लेकिन उन दोनों के रिश्ते वहाँ पर ज्यादा ठीक नहीं थे। वो लगातार उसे प्रताड़ित किया करता था। लगातार कहता था तो दहेज लेकर नहीं आई है।

तू बदचलन है, तरह तरह के इलज़ाम उस पर लगाया करता था। अपने पति की हरकतों से तंग आ करके ममता ने उसी कंपनी में काम करने वाले उसी के एक दोस्त के साथ संबंध बनाए। जब उसके साथ संबंध बनाए तो उनकी दोनों में प्यार मोहब्बत हो गई और यह दोस्ती काफी मजबूत हो गई। ममता अब अपने मन में ठान चुकी थी कि वह सुबेलाल के साथ नहीं रहेगी और उसने किया भी। ऐसा ही वो अपने मनपसंद के लड़के के साथ चली जाती है। सुबईलाल को अकेला छोड़ जाती है। दरअसल सूबे लाल अब अकेला बहुत ही परेशान रहता था।

परेशान रहने के बाद वो अपने घर चला आता है। अब वो फिर तलाश करता है कि उसकी शादी किसी तीसरी लड़की के साथ हो जाए। जमीन जायदाद गांव में अच्छी थी इसीलिए उसके रिश्ते वाले तुरंत ही उसके लिए तैयार हो जाते थे। पटना जिले के थाना क्षेत्र के जानपुर गांव के भगवान दयाल की पुत्री चंद्रावती की शादी 2018 में सुबेलाल के साथ फिर कर दी जाती है। अब क्या था अब सुबह लाल अपनी तीसरी पत्नी के साथ बहुत खुश था और दोनों में अच्छे संबंध चल रहे थे। धीरे धीरे समय बीतता है, कुछ दिन बाद वही कहानी वो फिर दोहराने लगता है।

और उसके साथ भी मारपीट किया करता है। उससे भी दहेज की मांग किया करता है। वह अपने माता पिता को बताती है कि हमारे पति हमसे दहेज की लगातार मांग करते हैं, जिससे माता पिता भी काफी परेशान रहा करते थे। कई बार पंचायत लेकर उसके घर आए समझाया, जितना भी उनसे दहेज बना उतना उसे दिया करते थे। लेकिन फिर भी चन्द्रावती को वो हमेशा परेशान ही रखा करता था। मारा पीटा करता था। एक दिन अचानक क्या होता है, यह मारपीट इतनी बढ़ जाती है कि रात में बहुत ज्यादा झगड़ा हो जाता है। तभी चंद्रावती रात को ही अपने घर जाने का फैसला कर लेती है।

और अपने घर से प्राण बचाकर भागने लगती है तभी वो उसे एक चोटी पकड़कर घसीटता है और घर में अंदर तक घसीटकर ले जाता है। उसके सीने पर बैठ करके उसका गला दबा देता है, तकिया से उसे मुँह बंद करके उसकी हत्या कर देता है, तब तक उसका मुँह नहीं छोड़ता है जब तक उसकी तड़प तड़प कर हत्या नहीं हो जाती, इधर वो आनन फानन में उसकी डेड बॉडी को ठिकाने लगा देता है। ससुराल वाले जब तक आते है तब तक उन्हें राख ही राख मिलती है। उन लोगों को शक होता है। वो तुरंत ही पुलिस को फ़ोन करते हैं। मौके पर पुलिस आती है और उनकी एफआईआर दर्ज की जाती है।

जब उनकी एफआईआर दर्ज की जाती है। एक दो दिन तक तो वो गायब रहता है, लेकिन पुलिस के हत्थे चढ़ जाता है। जब उसे अरेस्ट करती है, उसे रिमांड पर लेती है। एक नहीं तीन तीन शादियों का सारा राज़ खुल जाता है। पुलिस उसे अरेस्ट करके जेल भेज देती है। संगीन धाराओं में उसके खिलाफ़ मुकदमा दर्ज किया जाता है। अब वो तो जेल में ही रहेगा, लेकिन आज दहेज के लोभ में उसने एक नहीं दो नहीं तीन तीन लड़कियों की जिंदगी बर्बाद कर दी। दहेज के लोभियों से आप हमेशा सावधान रहें। हमेशा ऐसे घर में बेटी की शादी करें जहाँ खुशहाली हो।

जहाँ दहेजलोभी लोग ना रहते हो। अगर आपको हमारी कहानी पसंद आती है तो एक लाइफ जरूर करें। हमारे चैनल को सब्सक्राइब करे, मिलते है। फिर एक सच्ची घटना पर आधारित किसी कहानी के साथ तब तक अपना ख्याल रखियेगा नमस्कार, जय हिंद।

Credits: https://youtu.be/eYWEpvyQB84

Sharing Is Caring
Post a Comment

Post a Comment