Bookmark

पति नामर्द था तो दुल्हन ने देवर और ससुर से बनाई संबंध । सच्ची घटना

जीवन में उन सपनों का कोई महत्त्व नहीं है जिनको पूरा करने के लिए अपनों से ही छल करना पड़े। सब को दिलासा देने वाले लोग हमेशा अपने दुखों में अकेले हो जाते हैं। नमस्कार ExposeTime com में आपका स्वागत है। आज की जो घटना है यह निकलकर आ रही है उत्तर प्रदेश के फिरोज़ाबाद से।

पति नामर्द था तो दुल्हन ने देवर और ससुर से बनाई संबंध । सच्ची घटना

उत्तर प्रदेश के फिरोज़ाबाद में एक रेनू नाम की लड़की रहा करती है जिसकी उम्र है 24 साल। वह अपने घर में अपने मम्मी पापा के साथ अच्छे से रहा करती है। तभी कुछ समय के पहले उसके घरवाले उसकी शादी फिक्स कर देते हैं पड़ोस के ही गांव में एक लड़के से और  उस लड़के से रेनू की शादी कर दी जाती है। रेनू दुल्हन बनकर अपने पति के घर जाती है। सभी लोग बहुत खुश हो रहे होते हैं। रेनू वहाँ पर जाती है अपने ससुराल में और जैसे रात होती है, रात को रेनू के कमरे में उसका पति आता है। और आ करके वे डायरेक्ट सो जाता है, उससे बात भी नहीं करता है, ना ही कुछ उस से बतियाता है, रेनू समझती है शायद थका आ रहा होगा, थक गया होगा इसलिए सो गया है वो भी चुपचाप सो जाती है।

फिर दूसरा दिन होता है, दूसरे दिन भी उसका पति कमरे में आता है और फिर वह सो जाता है, उसको टच तक नहीं करता है। दोस्तों यह देखकर रेणु का माथा थिरकता है कि आखिर ये कैसा पति है? वो परेशान हो जाती है और फिर वह अपनी सहेलियों के पास अपने दोस्तों के पास फ़ोन करती है कि मेरे साथ ऐसे ऐसे हो रहा है।

उसके दोस्त उससे कहते है की कल जब वो तुम्हारे पास आए तो उसे जबरदस्ती संबंध बनाना, उससे प्यार करना फिर देखते हैं क्या होता है। दूसरा दिन होता है जब उसका पति कमरे के अंदर आता है तो फिर वह अपने पति से कहती है कि आखिर बात क्या है तुम मुझे छोड़कर दूर क्यों सो जाते हो? वो अपने पति से प्यार करना चाहती है, उसके साथ जबरदस्ती संबंध बनाना चाहती है लेकिन उसका पति संबंध बनाने के लिए तैयार नहीं होता और देखते ही देखते उसको पता चल जाता है कि मेरा पति नामर्द है। दोस्तों यह देखकर उसकी आँखों में आंसू आ जाते हैं। और ज़ोर ज़ोर से चिल्लाने लगती है। वो अपने सास और ससुर के पास जाती है और वहाँ जाकर सारी कहानी बताती है कि मेरा पति तो नामर्द है और तुमने मेरे साथ धोखा किया है।

pati-namard-tha-dulhan-ne-dewar-sasur-se-banaya-sambandh

दोस्तों उस परिवार के अंदर उस रेणु का देवर भी रहा करता है, उसका जेठ भी रहा करता है और सारा परिवार एकत्रित परिवार था तो वह जाकर अपनी सास और ससुर से यह बात बताती है कि मेरा पति तो नामर्द है और तुमने मुझसे धोखा दिया है। मैं पुलिस में जाउंगी तुम्हारे खिलाफ़ केस दर्ज कर वाऊंगी तो उसके बाद क्या होता है? उसकी सास और ससुर उसको अपने पास बैठाते हैं। और उसकी सास उसे समझाती है कि बेटी इस बात को बाहर मत कहो, तुम्हारी बदनामी होगी, हमारी भी बदनामी होगी। इससे तो अच्छा है, जो तुम्हारा देवर है उसके साथ हम तुम्हारी शादी करवा देंगे। अभी तुम देवर के साथ रह सकती हो, खुशी, खुशी।

दोस्तों उसके बाद क्या होता है उसके बाद रेणु का मान जाती है और फिर देवर को उसके कमरे में भेज दिया जाता है। देवर उसके कमरे में अब इस तरह से जाने लगता है जैसे एक पति अपनी पत्नी के कमरे में जाया करता है, समय गुजर रहा होता है तभी उसका ससुर भी उसके पास बैठता है। उससे कुछ बातें करता है और उसको अपनी बातों में फंसाकर वो भी उसके साथ संबंध बनाने लगता है। मामला इसी तरह से चल रहा होता है। रेनू इस बात के बारे में किसी को भी बता नहीं रही थी। यह बात छुपी हुई थी और एक चारदीवारी के अंदर यह बात चल रही थी। धीरे धीरे 2 साल ढ़ाई साल गुजर जाता है। रेनू को पहला बच्चा हो जाता है। फिर रेनू को दूसरा बच्चा भी हो जाता है। दो बच्चे हो जाते हैं। यह पता नहीं था कि कौन सा बच्चा देवर का है, कौन सा बच्चा उसके ससुर का है। लेकिन दोस्तों समय अच्छे से गुजर रहा था। उसे कोई शिकवा नहीं था, लेकिन जिंदगी के अंदर बदलाव तब आता है जब रेनू की सास अपने छोटे बेटे यानी की रेनू के देवर की सगाई करने की सोचने लगती है।

उसकी शादी करने के लिए सोचने लगती है। उसने तो ये कहा था कि तुम्हारे साथ तुम्हारा देवर रहेगा, बिल्कुल पति बनकर और उसने अब उसकी शादी का इंतजाम कर दिया था। तो ये इस बात से रेनू को धक्का लगता है कि अब इसकी शादी होगी। मैं कहा जाउंगी। रेनू उनसे लड़ने लगती है, झगड़ने लगती है। फिर वो अपनी सास और ससुर से कहती है की इसकी शादी में नहीं करने दूंगी क्योंकि ये है मैंने अपना पति मान रखा है। ये मेरा पति है, लेकिन घर वाले शादी करने के लिए ज़ोर देने लगते हैं कि इस छोटे देवर की शादी कराई जाएगी। फिर रेणु एक मामला दर्ज करवाती हैं पुलिस थाने में। वहाँ सारी घटना बताती है कि मेरे साथ ढ़ाई साल से 2 साल से इस तरह का कांड उस घर के अंदर हो रहा है और मैं अपने देवर से शादी करना चाहती हूँ लेकिन मेरे घर वाले उसकी शादी कहीं और करवा रहे हैं और मेरे साथ मेरे ससुर ने भी नाजायज संबंध बनाए थे। 2 साल से।

अब पुलिस ऐक्शन लेती है और हो सकता है उसके ससुर को रेप के आरोप में उसको सजा हो जाए और हो सकता है उसके जो देवर है उसकी और उसकी शादी हो जाए तो दोस्तों आप क्या कहना चाहते है? इस मामले को देखकर रेनू के घरवालों को जब यह बात पता चली तो दांतों तले उन्होंने ऊँगली दबा ली की ऐसा हमारी बेटी झेल रही थी 2 साल से। पुलिस ऐक्शन लेती है। पुलिस मामले की छानबीन में जुटी हुई है। आप क्या कहना चाहते हैं इस घटना के बारे में? क्या रेणु ने जो एक्सेप्टरेप के आरोप में उसको सजा हो जाए और हो सकता है उसके जो देवर है उसकी और उसकी शादी हो जाए तो दोस्तों आप क्या कहना चाहते है? इस मामले को देखकर रेनू के घरवालों को जब यह बात पता चली तो दांतों तले उन्होंने ऊँगली दबा ली की ऐसा हमारी बेटी झेल रही थी। 2 साल से की थी उनकी बात वो गलत की थी या फिर रेणुका ने सही किया था या फिर रेणु को उनको छोड़ देना चाहिए था? अपना दूसरा घर बसा लेना चाहिए था। आखिर रेणु को करना क्या चाहिए था? आप अपनी राय कमेंट बॉक्स में लिख सकते हैं, लोगों के साथ शेयर कर सकते हैं। दोस्तों ऐसी ही घटनाओं के बारे में मैं लिखता रहता हूँ जो की सच्ची घटनाएं होती हैं और जिन घटनाओं से हमें सीख मिलती है कि अपने जीवन में ऐसी ऐसी गलती ना करें वरना ऐसा भी हो जाता है 

जब हम गलत करते हैं तो हमारे साथ गलत ही होता है। ज्यादातर इन घटनाओं में लोग सोचते तो ये है की कुछ नहीं होगा। हम ऐसा कर लेते है लेकिन अंत में बुरा ही होता है और फिर वोह पछताते हैं जीवन भर के लिए।

https://youtu.be/4Y9VBF9MPwU

Sharing Is Caring
Post a Comment

Post a Comment