मां की मौत के बाद जब बेटी ने बनाए पिता से संबंध । सच्ची घटना । Crime Story

मां की मौत के बाद जब बेटी ने बनाए पिता से संबंध । सच्ची घटना । Crime Story

एक 21 साल की जवान लड़की अपने पिता को खाना खिलाने के बाद उन्हीं के बिस्तर पर उन्हीं के कमरे में जाकर लेट जाती हैं। जब वह पिता खाना खाने के बाद अपने कमरे में सोने के लिए आते हैं तो वो देखते हैं कि उन्हीं के बिस्तर पर उनकी बेटी लेटी हुई हैं तो वह अपनी बेटी को जाकर जगाते हैं और अपनी बेटी से कहते हैं कि क्या बात है कि आज तुम्हारी तबियत ठीक नहीं है तो वो कहती हैं, पिताजी मेरी तबियत भी ठीक नहीं है और कुछ आज मुझे डर लग रहा है। इसीलिए मैं नहीं सोना चाहती हूँ तो वो कहते है ठीक है, फिर सो जाओ।

और जैसे जैसे रात आगे की तरफ बढ़ती है वो लड़की रात में अपने पिता को स्पर्श करना शुरू कर देती है। धीरे धीरे ये स्पर्श का जो सिलसिला था वो इस कदर आगे बढ़ जाता है कि बेटी यह भूल जाती है कि यह मेरे पिता हैं और पिता यह भूल जाता है कि यह मेरी बेटी है। उसके बाद उन दोनों के बीच ऐसा हो जाता है जिसकी कोई कल्पना भी नहीं कर सकता और जब यह बात आस पड़ोस में पता चलती है और पूरे क्षेत्र में आग की तरह फैलती है।

तो जो लड़की है, कुछ ऐसा कदम उठाती है जिसकी कोई कल्पना भी नहीं कर सकता। आज की जो सच्ची घटना है वह है मध्यप्रदेश के सागर से लेके वहाँ का रहने वाला प्रेमलाल, जिसकी उम्र होती है करीब 45 साल। उसकी जो एक बड़ी लड़की थी, जिसकी उम्र थी करीब 21 साल ग्रैजुएशन की पढ़ाई कर रही थी और एक छोटी लड़की थी, जिसकी उम्र थी करीब 15 साल और एक छोटा लड़का था जिसकी उम्र थी करीब 10 साल।

beti-ne-banaya-pita-se-sambandh-sachhi-ghatna

पत्नी की करीब 2 साल पहले मौत हो चुकी थी। इनका जो परिवार था माँ के गुजर जाने के बाद भी अच्छा खासा चल रहा था तो प्रेमलाल ने निश्चय किया कि क्यों ना दूसरी शादी कर ली जाए। जो बच्चे हैं वह अभी थोड़े छोटे भी है तो जिससे यह जो नई पत्नी आएगी वो उनका भी अच्छे से ख्याल रखेगी। यह बात जब बड़ी बेटी को पता चलता है कि मेरे पिता दूसरी शादी करने वाले है, तो उसे कही लगने लगता है कि शायद जो दूसरी माँ आएगी वो कैसी निकलेगी? हमारा ख्याल रखेगी भी या नहीं रखेगी? यह सब बातें उसके मन में उमड़ रही थी। तभी वो 1 दिन जब स्कूल जाती है तो इस बात को लेकर अपनी सहेली से चर्चा करती है कि मेरे जो पिता हैं वह दूसरी शादी करने चाह रहे हैं। उन्हें लग रहा है कि हमारे जो बच्चे हैं वह भी छोटे हैं, इसीलिए मुझे शादी कर लेनी चाहिए। तो जो सहेली थी वह उसे बताती है कि देखो तुम्हारे पिता को तुम्हारे जो भाई बहन हैं, तुमसे कोई मतलब नहीं है। उन्हें सिर्फ और सिर्फ अपनी शारीरिक और हवस को मिटाने के लिए ही वो शादी करेंगे।

तो वो कहती हैं, क्यों ना तुम ऐसा करो कि तुम अपने पिता के ही साथ हमबिस्तर हो जाओ और उनकी भी शारीरिक भूख मिट जाएगी और तुम्हारे जो पिता है वह भी दूसरी शादी नहीं करेंगे।

अब उस लड़की की यह बात मन में बैठ जाती है। उस दिन जब वो घर आती है और घर आने के बाद अपने पिता को पहले खाना खिलाती है और खाना खिलाने के बाद उन्हीं की बिस्तर पर जाकर उन्हीं की कमरे में लेट जाते हैं। जब उनके कमरे में बिस्तर पर लेटी थी तो जो पिता थे वह अपने कमरे के अंदर सोने के लिए आते हैं। तो अपनी बेटी को जब देखते हैं तो उससे पूछते हैं कि क्या बात है कि आज तुम्हारी तबियत ठीक नहीं है? तो वो कहते हैं, पिताजी तबियत में मेरी थोड़ी ठीक नहीं है और मुझे आज थोड़ा डर लग रहा है। मैं यही सोऊंगी तो वह अपने पिता के साथ उसी बिस्तर पर सो जाती है।

अब तो रात होती है तो वह अपने पिता को स्पर्श करना शुरू कर देती है। स्पर्श करते करते कब इन दोनों के बीच ऐसा हो जाता है जिसकी कल्पना भी करना मुश्किल है और उसके बीच इन दोनों के बीच पर अवैध संबंध बन जाते हैं। अब अवैध संबंध उस दिन जब बन जाते हैं फिर यह सिलसिला जारी रहता है। और फिर तो कई बार इन दोनों के बीच संबंध बने। इसी दौरान वो जो लड़की थी पूजा वह प्रेग्नेंट हो जाती है जो प्रेग्नेंट हो जाती है, उसे लगने लगा कर शायद किसी और को इस बारे में पता चल गया। आज और उसके लोगों को पता चल गया तो कहीं ऐसा ना हो कि हमारे जो पिता है इनकी भी इज्जत चली जाए और मैं भी कहीं की नहीं रहूंगी तो उसके पिता ने और उसने यही डिसाइड किया इस बच्चे को अबॉर्शन करवा दिया जाए। इस बच्चे को करवा दिया जाए तो वह उस बच्चे को करवा देते है और उसके बाद फिर भी इनके बीच सिलसिला जारी रहता है और इसकी जब भनक आस पड़ोस के लोगों को लगती हैं, उन्हें लगता है कि यह अपनी बेटी के साथ ऐसा करते हैं। यह बात उन्हें सुनने में आती है तो लड़की को जब पता लगने लगा कि अब उसके बाद बस यही निर्णय करती है कि अब मैं फांसी लगाकर अपनी जान दे दूंगी और वो फांसी लगाकर अपनी जान दे दी थी।

जब लोगों को पता चलता है कि फांसी लगाकर उसने अभी जान दे दी है, पुलिस वालों को फ़ोन लगाते हैं और पुलिस वहाँ पर पहुंचती है, पुलिस उस आदमी को अपनी हिरासत में लेती है और हिरासत में लेने के बाद जब उससे पूछ्ताछ धीरे धीरे शुरू होती है तो मामला निकलकर सामने आता है कि पिता का अपनी ही बेटी के साथ अवैध संबंध था। बेटी ने अपने पिता की इज्जत को बचाने के लिए यह सब खौफनाक कदम उठाया था।

तो पुलिस उसे जेल में भेज देती है। तो इस घटना के बारे में आप क्या कहना चाहोगे? अपनी राय नीचे कमेंट बॉक्स में जरूर बताईएगा मिलते हैं ऐसी एक और नई सच्ची घटना के साथ तब तक के लिए जयहिंद।

https://youtu.be/u4jUy2W4bAY

Next Post Previous Post
No Comment
Add Comment
comment url