एक ऑटो ड्राईवर ने कैसे बड़े घर की 300 महिलाओं से बनाए संबंध | Crime Story

एक ऑटो ड्राईवर ने कैसे बड़े घर की 300 महिलाओं से बनाए संबंध

ये सच्ची कहानी है हैदराबाद की। हैदराबाद में एक ऑटो ड्राइवर एक महिला के साथ संबंध बना रहा होता है। वो जब संबंध बना रहा होता है तो संबंध बनाते बनाते उस महिला की हालत इतनी खराब हो जाती है की उस आदमी को उस महिला को लेकर तुरंत हॉस्पिटल जाना पड़ता है।
हॉस्पिटल जाने के बाद उसके कुछ मेडिकल टेस्ट होते हैं। मेडिकल टेस्ट होने के बाद उनकी रिपोर्ट आती है। जब वह महिला उन रिपोर्टों को देखती है तो वो हैरान थीं। परेशान थी वो सोचती थी की ऐसा कैसे हो सकता है मेरे साथ, मैं तो किसी और के साथ में संबंध नहीं बनाई हूँ और मेरे साथ में यही एक आदमी है और मेरा पति है और किसी और के साथ मेरे संबंध भी नहीं बनाई है।

तुरंत वो उस रिपोर्ट को लेकर पुलिस स्टेशन जाती है। पुलिस स्टेशन जाकर उस आदमी के खिलाफ़ मुकदमा दर्ज करती है। उस ऑटो ड्राइवर के खिलाफ़ मुकदमा दर्ज करती है। उस ऑटो ड्राइवर के खिलाफ़ मुकदमा दर्ज होने के बाद पुलिस उस ऑटो ड्राइवर को पकड़ लिया और पकड़कर जब अपने थाने लेकर आती है और थाने लेकर आने के बाद जब उस ऑटो ड्राइवर से पूछ्ताछ की जाती है तो वो जो वो बताता है वो सुनकर आप सच में परेशान हो जाएंगे। हैरान हो जाएंगे क्योंकि उसके साथ में जो घटना घटी थी वो घटना कोई आम घटना नहीं थी और उसने जो कांड जो कृत्य किया था वो भी एक आम घटना का, वो भी एक आम जुर्म नहीं था।

तो आज की सच्ची कहानी में आपके लिए लेकर आया हूँ। हैदराबाद जो कि आंध्र प्रदेश में है। एक आदमी होता है जिसका नाम होता है मक। आज गिरी मकान गिरी ऑटो ड्राइवर का काम किया करता था। ऑटो ड्राइविंग का काम करते करते उसको औरतों का बहुत शौक था। वो हमेशा औरतें बदलता रहता था और जो भी औरतें उसके ऑटो में बैठा करती थीं, जो पुरानी औरते होती थी जो 40 साल से ऊपर की ओर करती थी, वो उनको कही ना कही अपनी बातों में फंसाकर उनसे संबंध बनाया करता था और ऐसे करते करते वो बहुत महिलाओं से संबंध बना चुका था। उसका यही काम था यही करता था।
वो जब भी कोई महिला अकेली होती थी, उदास होती थी तो उसी महिला के पास जाकर ऑटो रोकता था और उसे अपने साथ ले जाता था और उसके संबंध बनाया करता था। ये सिलसिला उसका लगभग तीन से 4 साल से चल रहा था इस सिलसिले को चलाते चलाते उसको औरतों का इतना शौकीन हो जाता है की उसे हर रोज़ एक नई औरत चाहिए होती है। वो जो औरत की चाह रखता था, ये चाय उसको एक ऐसे मंजर में झोंक देती है। एक ऐसे गुनाह की तरफ लेकर जाती है जो आप सुनेंगे तो परेशान हो जाएंगे। वो हमेशा जब औरतें बदला करता था तो वो अब रेड लाइट एरिया में भी जाना शुरू कर देता है।
और रेड लाइट एरिया में जब वो जाता है तो पास हो जाया करता था के पास हो जाते जाते उसे कब ना जाने एक बिमारी हो जाती है जो कि एचआइवी नाम की बिमारी हो जाती है। एचआइवी की जब वो रिपोर्ट करता है, रिपोर्ट कराकर जब उसको पता चलता है की उसको एचआइवी हैं तो उसके बाद वो जो कांड वो जो करते है उसने किया है वो शायद एक आम आदमी नहीं कर सकता। एक हैवान नहीं कर पाए। अब जब उस आदमी को पता लग जाता है कि मुझे एचआइवी हैं तो वो अपनी एक शादी करता है और शादी करने के बाद में उस महिला के साथ में जब संबंध बनाता है तो उसको भी एचआइवी कर देता है।
और जब वो अपने घर में अपनी महिला को अपनी वाइफ को जब बुलाया करता था तो उसको जिसका वो नाम होता था उस नाम से नहीं बुलाया करता था। वो हमेशा किसी दूसरे नाम से बुलाया करता था क्योंकि उसके कई महिलाओं से संबंध थे तो उसके दिमाग में अपनी वाइफ का नाम नहीं आता था तो वो किसी और के नाम से बुला लिया करता था। इस वजह से जो वो महिला थी वो तुरंत उसको तलाक देकर चली जाती है और उससे झगड़ा करती है।
ऐसे ही करते करते वो दूसरी शादी करता है। दूसरी शादी में भी ऐसा ही होता है। वो जो उस महिला का नाम होता है उस नाम से वो नहीं बुलाता। दूसरी महिला के नाम से बुलाता है तो वो भी महिला ऐसे ही उसको छोड़कर चली जाती है क्योंकि उस को हमेशा उन महिलाओं का नाम याद नहीं रहता था क्योंकि इतनी महिलाएं उसके 
उसका जो काम था उसका काम यही था की मुझे जितनी ज्यादा महिलाएं हुआ है, बी पॉज़िटिव करनी है और ये उसने एक होड़ मचा रखी थी। वो कहीं पैसे देकर कई महिलाओं को ऑटो में बैठाकर उनको फंसाकर जैसे भी हो वो महिलाओं के साथ संबंध बनाना ही उसका एक कांड था, उसके सिवा कुछ सोचता नहीं था और डेली अलग अलग महिलाओं के साथ संबंध बनाने की वो साजिश में और फिराक में रहता था।
ऐसा ही उसको होता भी है। उसे कोई न कोई महिला रोज़ फंस जाती है। ऐसे करते करते लगबग उसने 400 से 500 महिलाओं के साथ संबंध बनाए और उन महिलाओं ने जब अपने घर में जाकर अपने पतियों के साथ संबंध बनाए तो उनके पतियों को भी एड्स हो जाता है।
क्योंकि उन महिलाओं को पता नहीं होता की जिस आदमी के साथ वो संबंध बना कर आई है जिसे आदमी के साथ में वो रिश्तों में रही है, रिलेशन में रही है, वो आदमी पहले से ही एचआइवी पॉज़िटिव हैं। ऐसे जब इस खुलासे को जो पुलिस खुलासा करती है तो वहाँ पर चारों तरफ हंगामा हो जाता है और अखबारों में जब न्यूज छपती हैं तो चारों तरफ जो महिलाएं उस आदमी के संपर्क में रहती है जिसका नाम था मसाज गिरी जो ड्राइवर था और जब उसका नाम अखबारों में छपता है तो तुरंत महिलाएं जो हैं रिपोर्ट करना शुरू कर देती है और अपना मेडिकल टेस्ट कराती है। आदमी भी जो उनके पति होते हैं वो भी मेडिकल टेस्ट करते है की वो उनको भी थोड़ा थोड़ा शक हुआ था। उनकी भी तबियत थोड़ी खराब होने लगी थी।
तो कई महिलाओं को और कई पतियों को जो है ऐसे भी पॉज़िटिव की बिमारी निकलती है और लगभग लगभग 300 से प्लस है। आजतक की रिपोर्ट में पता चला है की 300 प्लस महिलाएं जो हैं, एचआइवी पॉज़िटिव निकली है। उस आदमी के संपर्क में आने से तो ये ऑटो ड्राइवर एक शातिर हो चुका था।
उसने जो जो उसने जो महिलाओं का दर्द देने का तरीका ढूंढा था, वो दर्द देने का तरीका एक ऐसा तरीका था जैसे की हम मज़े में ही दर्द दे दे और उसने इतनी महिलाओं को ऐसी भी पॉज़िटिव किया और उनसे उन महिलाओं से उनके पतियों को भी पॉज़िटिव हुआ।
अब कही ना कही सारे जो उस क्षेत्र के पति थे हैदराबाद के जो क्षेत्र पड़ता है उस क्षेत्र के जो पति थे वो भी अपनी महिलाओं पर शक करने लगे थे। अपनी पत्नी पर शक करने लगे हुए हैं और जो उनकी पत्नियां थी वो भी अपने पतियों पर शक करने लगी थी की कही हमको भी एचआइवी पॉज़िटिव ना हो जाए और ये आदमी कहीं दूसरों से संबंध में ना आया हो और वो जो पति थे वो भी सोचने लगे थे की हमारी जो औरतें हैं, हमारी जो वाइफ है वो भी किसी दूसरे से संबंध में तो नहीं है।
ऐसे करते करते कही और तो कई महिलाओं का जब पॉज़िटिव निकल जाता है तो उस क्षेत्र में हंगामा होता है और पुलिस इस हंगामे को शांत करने के लिए बोलती है की आप शांत रहिए और कोई हंगामा मत कीजिए। आप जो है अपने मेडिकल रिपोर्ट कराई है, टेस्ट कराइए और सभी ठीक हो जाएंगे। ऐसा बोलकर पुलिस कहीं ना कहीं उनको समझाते है। लेकिन दोस्तों आपको पता है एचआइवी जो बिमारी है वो ऐसे ठीक नहीं होती और वो है जो आदमी को मार का ही ठीक होती है। बस आदमी उस में जीता रहता है लेकिन आदमी को जो है मरने की इच्छा ही करता है। आदमी जो है इसमें जीता रहता है लेकिन आदमी को जीने की इच्छा ही रहता है। लेकिन आदमी को जीने की इच्छा ही खत्म हो जाती है।
दोस्तों मैं आपको यही बताना चाहता हूँ कि आप जागरूक रहें  और किसी अंजान व्यक्ति के संपर्क में नहीं आये।
किसी औरत के भी बहकावे में ना आएं, किसी आदमी की भाषा में ना आएं। आपका जीवन बहुत अमूल्य है और आपके अपने जीवन को मूल्यवान बनाने के लिए अपने जो है, बच्चों को आपको परवरिश करनी है, अपने परिवार को परवरिश करनी है तो आपको जीना बहुत जरूरी है। आप अगर ऐसे करते हैं ऐसे कांड में फंसेंगे तो शायद कहीं ना कहीं आपको और आपके परिवार को इसकी बहुत हानि भुगतनी पड़ेगी।
दोस्तों कहानी अच्छी लगी है तो प्लीज़ शेयर जरूर कीजिये। मैं ऐसी ही रोज  एक नई कहानी के साथ आता रहता हूँ। आज के लिए इतना ही।
auto-driver-ne-banaya-300-mahila-se-sambandh-crime-story
Credits: https://youtu.be/rA8HLC1GPA4
Next Post Previous Post
No Comment
Add Comment
comment url