Bookmark

10 साल की लड़की 10 रुपए में 2 बूढ़ों से बनाती थी संबंध । सच्ची घटना । Crime Story

10 साल की लड़की 10 रुपए में 2 बूढ़ों से बनाती थी संबंध । सच्ची घटना । Crime Story

आज के जमाने में बिल्कुल भी अपने छोटे बच्चों को अकेला ना छोड़ें, उनके प्रति लापरवाही ना बरतें वरना ये लापरवाही आपके लिए बड़ी ही जानलेवा साबित हो सकते हैं। कैसे? 10 साल की बच्ची को उसके माँ बाप उसके प्रति लापरवाह हो जाते हैं। उसके बाद वो लड़की उन दो बूढ़ों के चंगुल में फंस जाती है और वो बुड्ढे उसका डेली यौन शोषण करते थे और पूरी तरह से उसका फायदा उठाते थे। आज की जो घटना है वह वाकई मानवता को शर्मसार करने वाली है।

आज की जो सच्ची घटना है यह है छत्तीसगढ़ के बलौदाबाजार गांव की, गांव बिलकुल छोटा था। बहुत कम लोग उस गांव में रहते थे। अक्सर लोग जब गांव में मजदूरी करने चले जाते थे, उस गांव में बहुत कम लोग रह जाते थे। 1 दिन एक करीब 10 साल की लड़की उस गांव में रहने वाली वह परचून की दुकान पर अपने पिता के कहने पर दुकान पर जाते हैं। जब वह परचून की दुकान से जा रही थी। परचून की दुकान पर सामान लेने तो एक औरत दरवाजे पर बैठी हुई बड़ी टकटकी नज़र से उस लड़की की तरफ देख रही थी। लड़की जैसे ही परचून की दुकान से सामान लेकर वापस आई तो उस औरत ने उस लड़की को बड़े ध्यान से देखा। उसके जो पैर थे वह लड़खड़ा रहे थे और लड़की बिल्कुल चलने की स्थिति में नहीं थी, ना ही आगे बढ़ पा रही थी। इसी तरह से बेहोश होने लगी और वहीं पर अचानक चक्कर खाकर गिर गई।

लड़की चक्कर खाकर गिरी तो वो महिला तुरंत दौड़कर गई हो और उस लड़की को अपनी गोद में उठाकर वह महिला उनके घर ले गई। जब घरवालों ने पूछा कि हमारी जो लड़की थी वो अभी तो अचानक सही थी, घर से तो सही गयी थी तो वो महिला ने बता दिया कि यह जो तुम्हारी लड़की है, यह जो निकली थी तो बिल्कुल सही थी। मैंने इसे देखा। जब यह वापस परचून की दुकान से आ रही थी तो उसके जो पैर थे वह लड़खड़ा रहे थे और तभी अचानक बेहोश होकर नीचे गिरी तो मैं इसे उठाकर ले आई तो परिवार वाले उस रमेश के पास उसके जो पिता थे, वो रमेश जो दुकान चलाता था, उसकी उम्र करीब अड़तालीस वर्ष थी। उसके पास पहुंचते है, उससे पूछ्ताछ करते है।

10-saal-ki-ladki-sambandh-banate-the-2-buddhe-sachhi-ghatna

वो कहता है, मुझे इसके बारे में कुछ नहीं पता है। ये तो मेरी दुकान पर सामान लेने आई थी। मैंने इसे सामान दिया और यह वापस चली गयी। मैंने सुना है कि वह चक्कर खाकर उसे बेहोश हो गई है तो वह कहते हैं हाँ तो वह कहता है शायद गर्मी बहुत पड़ रही है। इसी वजह से लड़की को चक्कर आ गए होंगे तो उसके पिता की भी समझ में आ जाता है कि शायद ऐसा हो सकता है। गर्मी भी बहुत पड़ रही है इसीलिए चक्कर आ गए होंगे।

लेकिन जब  को बुलाया जाता है दूसरी लड़की का इलाज करने में हो जाता है। उसके बाद जब लड़की की स्थिति पल पल बहुत ज्यादा बिगड़ने लगती है तो उसे हॉस्पिटल के लिए जब उसके घर वाले ले जाते हैं। जब डॉक्टर उसका चेकअप करते है, इलाज शुरू करते हैं तो पता चलता है इस लड़की का रेप हुआ है तो डॉक्टर आकर उनके माता पिता से कहता है कि तुम्हारी जो लड़की है इसके साथ रेप हुआ है।

जब वह पिता और माता इस तरीके की बात जब डॉक्टर के मुँह से सुनते हैं तो उनके कान पूरी तरह से इस बात को सहन नहीं कर पा रहे थे कि आखिर हमारी बेटी के साथ कोई ऐसी दरिंदगी कैसे कर सकता है? लेकिन जो घर वाले थे अक्सर वह मजदूरी मेहनत करने चले जाते थे तो शायद वो जो लड़की थी वो अकेली घर पर रहती थी तो इसी लापरवाही की जो थी वो उनके साथ घटित हुई।

तो जब परिवार वालों ने खंगालना शुरू किया तो जो पिता थे वह तुरंत पुलिस स्टेशन पहुंचे और एफआईआर दर्ज करवाई। लड़की थी उसकी तो हालत बहुत ज्यादा नाजुक थी और बहुत ज्यादा हालत ऐसी नहीं थी कि वह लड़की बोल पाती थी। वो बहुत ज्यादा गंभीर थी। लड़की बोलने की स्थिति में नहीं थे तो पुलीसवाले उसका बयान दर्ज नहीं कर सकते थे। तो इसीलिए उन्होंने उसके पिता से पूछा कि तुम्हारी नजर में किसी पर तुम्हें शक हो तो तुम बताओ तो वो कहता है कि मुझे एक परचून की दुकान पर चलाता है। उस पर शक है जो पुलिस वाले रमेश के पास पहुंचते हैं।

परचून दुकान वाले के पास तो रमेश से जब पूछ्ताछ की जाती है तो रमेश इधर उधर की पहली बयानबाजी करता है। लेकिन जब रमेश से कड़ाई से पूछ्ताछ की गई और उससे पूछा गया कि लड़की जब सही गई थी और उधर से जब वापस आई और यह महिला जो बता रहे है की लड़की इधर से तो सही गयी थी, जब उधर से आ रही थी तभी अचानक लड़की के साथ ऐसा हुआ है तो सही सही बताओ? जब उसे काई से पूछ्ताछ की गई तो उसने सारा का सारा गुनाह कबूल कर लिया और उसने यह भी बताया कि मैं ऐसा पहला शख्स नहीं हूँ उस लड़की के साथ ऐसा करने वाला। इसके साथ पहले भी ऐसे कोई और शख्स है जो उसके साथ ऐसा कर चूके हैं। हमारे ही गांव का एक शख्स हैं कुंडनराम, जिसकी उम्र करीब 76 साल है। उस लड़की के साथ संबंध बना रहा था और संबंध बनाते हुए जब मैंने उसे देखा।

तो लड़की तो जा चुकी थी और ये कुंदनराम से जब मैंने पूछा ये तो मेरे इस लड़के के साथ क्या कर रहे थे? तो कुंदन राम ने मुझे बताया, इस लड़की को मैं 10 रूपये देता हूँ और जो चाहूं मैं उससे कर लेता हूँ।

तो रमेश की भी हवस जाग उठी। वो बोला जब यह मेरे पास आएगी तो मैं भी इसी के साथ ऐसा ही करूँगा।

तो रमेश के पास जब वो लड़की सामान लेने पहुंची तो रमेश ने भी उसके साथ ऐसा किया। लेकिन उस दिन गर्मी पड़ रही थी और 10 साल की लड़की थी। वो तो बूढ़ा आदमी था कुंदन राम लेकिन जो रमेश था वो तो जबान था, इसीलिए वो लड़की उसका यौन शोषण सहन नहीं कर पाई। इसीलिए वो लड़की की जो हालत थी वो बहुत ज्यादा गंभीर हो गई तो इसीलिए पुलिस ने उन्हें करीब दो तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया और जब लड़की को होश आया और जब उसे बयानबाजी की गई तो लड़की ने सही सही बताया। जो लोग गिरफ्तार हुए थे वाकई वो ही थे।

दरिंदे जो उस लड़की के साथ हवस मिटाते थे।

तो उसके बाद उन्हें जेल भेज दिया गया। लेकिन आप ऐसे शख्स के बारे में क्या कहना चाहोगे? और अंत में मैं बस यही कहना चाहूंगा कि कभी भी अपने बच्चों को बिल्कुल अकेला न छोड़ें। चोटें बच्चों के ऊपर नजर जरूर रखें। किस समय किस व्यक्ति के ऊपर इस समय भरोसा करना बहुत ज्यादा मुश्किल है कि समय कौन आप मेहरबान बन जाये, कुछ कहा नहीं जा सकता। तो आज की जो सच्ची घटना है वह बस इतनी ही एक और नई सच्ची घटना के साथ जय हिंद जय भारत।

https://youtu.be/q5o2EvdzTbY

Sharing Is Caring
Post a Comment

Post a Comment